Loading...

Suvichar Tag: SPKAV

सच्चे आभूषण

सत्यार्थ प्रकाश के अनमोल वचन       सन्तानों को उत्तम विद्या, शिक्षा, गुण, कर्म और स्वभावरूप आभूषणों का धारण कराना माता-पिता, आचार्य और सम्बन्धियों का मुख्य कर्म है। सोने, चांदी, माणिक, [ … ]

प्राणायाम से मन की शुद्धि

सत्यार्थ प्रकाश के अनमोल वचन प्राणायाम से मन इन्द्रियों की शुद्धि जैसे अग्नि में तपाने से स्वर्णादि धातुओं का मल नष्ट होकर शुद्ध होते हैं वैसे प्राणायाम करके मन आदि [ … ]

माता द्वारा सन्तानों को शिक्षा

सत्यार्थ प्रकाश के अनमोल वचन माता द्वारा सन्तानों को शिक्षा जब पांच वर्ष के लड़का-लड़की हों तब देवनागरी अक्षरों का अभ्यास करावे। अन्यदेशीय भाषाओं के अक्षरों का भी। उसके पश्चात् [ … ]

माता का कर्त्तव्य

सत्यार्थ प्रकाश के अनमोल वचन माता का कर्त्तव्य बालकों को माता सदा उत्तम शिक्षा करे, जिससे सन्तान सभ्य हों और किसी अंग से कुचेष्टा न करने पावें। जब बोलने लगे [ … ]

सन्तान का जन्म.. 2

सत्यार्थ प्रकाश के अनमोल वचन सन्तान का जन्म.. 2 गर्भाधान के पश्चात् स्त्री को बहुत सावधानी से भोजन-छादन करना चाहिए। पश्चात् एक वर्ष पर्यन्त स्त्री पुरुष का संग न करे। [ … ]

सन्तान का जन्म.. 1

सत्यार्थ प्रकाश के अनमोल वचन सन्तान का जन्म.. 1 माता और पिता को अति उचित है कि गर्भाधान के पूर्व, मध्य और पश्चात् मादकद्रव्य, मद्य, दुर्गन्ध, रूक्ष, बुद्धिनाशक पदार्थों को [ … ]

तीन उत्तम शिक्षक

सत्यार्थ प्रकाश के अनमोल वचन तीन उत्तम शिक्षक वस्तुतः जब तीन उत्तम शिक्षक अर्थात् एक माता, दूसरा पिता तीसरा आचार्यहोवे तभी मनुष्य ज्ञानवान होता है। वह कुल धन्य, वह सन्तान [ … ]

सीधा मार्ग

सत्यार्थ प्रकाश के अनमोल वचन सीधा मार्ग सीधा मार्ग वही होता है जिसमें सत्य मानना, सत्य बोलना, सत्य करना, पक्षपात रहित न्याय, धर्म का आचरण करना आदि है। और इससे [ … ]