विद्या

१६. विद्या – जिससे ईश्वर से लेके पृथिवीपर्य्यनत पदार्थों का सत्य विज्ञान होकर उनसे यथायोग्य उपकार लेना होता है, इसका नाम ‘विद्या’ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *