वर्ण

४३. वर्ण – जो गुण और कर्मों के योग से ग्रहण किया जाता है, वह ‘वर्ण’ शब्दार्थ से लिया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *