मृत्यु का यथार्थ सत्य

12 नवम्बर

सदा मृत्यु को देखनेवाला व्यक्ति तेजी से सोचता और करता है। मृत्यु शीघ्रता से निर्णय लेना व समय से आवश्यक कार्य करना सिखाती है। मृत्यु के यथार्थ सत्य को मानकर समय का सही उपयोग करना आ जाता है। दिन जीने के बहुत नहीं है.. क्या इस ज्ञान के उदय होने पर जो मुख्य-मुख्य काम हैं, उन्हें आप पहले करने लग गए हैं..?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *