पुराण

९६. पुराण – जो प्राचीन ऐतरेय शतपथ ब्राह्मणादि ऋषि मुनि कृत सत्यार्थ पुस्तक हैं, उन्हीं को ‘पुराण, इतिहास, कल्प, गाथा और नाराशंसी’ कहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *