पञ्चायतनपूजा

६४. पञ्चायतनपूजा – जीते माता, पिता, आचार्य्य, अतिथि और परमेश्वर का जो यथायोग्य सत्कार करके प्रसन्न करना है, उसको ‘पञ्चायतन पूजा’ कहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *