आश्रम

४५. आश्रम – जिनमें अत्यन्त परिश्रम करके उत्तम गुणों का ग्रहण और श्रेष्ठ काम किये जायें, उनको ‘आश्रम’ कहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *