आचार्य

६१. आचार्य – जो श्रेष्ठ आचार को ग्रहण करा के सब विद्याओं को पढ़ा देवे, उसको ‘आचार्य्य’ कहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *