Loading...

Category: Praj Tantra Visthapana

प्रजातन्त्र बनाम प्रजतन्त्र

प्रजातन्त्र की परिभाषा है लोगों का, लोगों के लिए, लोगों के द्वारा। यह परिभाषा इसलिए निरर्थ है कि यह असंभव है तथा आदर्श भी नहीं है। लोग हमेशा स्तरीकृत रहेंगे। [ … ]

प्रजतन्त्र विस्थापना

व्यक्तिमद जनता है दशानन। प्रजामत जनता है प्रजानन। रावण तन्त्र कहीं बेहतर है प्रजातन्त्र से। रावण तन्त्र की हत्या की राम ने। प्रजातन्त्र की हत्या तुम करो। प्रज हो तुम! [ … ]