39. भूर्भुवः स्वर्द्यौरिव.. २..!!

ओं भूर्भुवः स्वः। (गोभिल.गृ.प.1/खं.1/सू.11)

ओं भूर्भुवः स्वर्द्यौरिव भूम्ना पृथिवीव वरिम्णा। तस्यास्ते पृथिवि देवयजनि पृष्ठे ऽ ग्निमन्ना दमन्नाद्यायादधे।। (यजृ.अ.3/मं.5)