वैदिक रीति सिखलाई आर्य समाज ने

वैदिक रीति सिखलाई, सिखलाई आर्य समाज ने

ऋषि मुनियों के पथ पर चलना।
एक प्रभु की पूजा करना।।
सन्ध्या विधि बतलाई, बतलाई आर्य समाज ने।। 1।।

ब्रह्मचर्य और गृहस्थ बताया।
वानप्रस्थ संन्यास सिखाया।
आश्रम विधि जतलाई, जतलाई आर्य समाज ने।। 2।।

बाल विवाह को बन्द कराया।
वृद्ध विवाह का नाम मिटाया।
स्वयंवर प्रथा चलाई, चलाई आर्य समाज ने।। 3।।

पाप भयंकर माँस का खाना।
शराब से बुद्धि बिसराना।
मिथ्या लत छुड़वाई, छुड़वाई आर्य समाज ने।। 4।।

स्वदेश की वस्तु अपनाएँ।
स्वधर्म पे निज शीश कटाएँ।।
धर्म की की दृढ़ताई, दृढ़ताई आर्य समाज ने।। 5।।

जिसने ऋषि को जहर पिलाया।
थैली दे उसको भिजवाया।
कातिल की करी भलाई, भलाई आर्य समाज ने।। 6।।