ब्रह्म आह्वान से चतुः आधान

“आह्वान-पुकार-स्वीकार”

ब्रह्म आह्वान से चतुः आधान।
अन्न बल वेग व विज्ञान।। टेक।।

उच्च निम्न मध्यम पुकारते हैं ब्रह्म।। 1।।

यात्री व मंझिल करम पुकारते हैं ब्रह्म।। 2।।

संघर्षरत या निवास में पुकारते हैं ब्रह्म।। 3।।

असमृद्ध या समृद्धं पुकारते हैं ब्रह्म।। 4।।

सम ज्ञान सम हृदयं स्वीकारते हैं ब्रह्म।। 5।।