आनन्द सुधासार दयाकर

आनन्द सुधासार दयाकर पिला गया।भारत को दयानन्द दुबारा जिला गया।।टेक।। डाला सुधारवारि बढ़ी बेल मेल की।देखो समाज फूल फबीले खिला गया।। 1।। अब कौन दयानन्द यति के समान है?।महिमा अखण्ड…

आर्य वीर दल रहा रहेगा प्राण आर्यों का

आर्य वीर दल रहा रहेगा प्राण आर्यों का।इससे ही होना है नव निर्माण आर्यों का।। टेक।। गुरुवर दयानन्द का इससे गहरा नाता है।आर्यवीर दल पुनः जागरण शंख बजाता है।।लेखराम का…

उठो जवानों करो प्रतिज्ञा

उठो जवानों करो प्रतिज्ञा जग को आर्य बनाना है। भूले भटके भ्रान्त पथिक को फिर सन्मार्ग दिखाना है।। टेक।। मतवादों का अन्ध कुहाँसा दिशाबोध भूला मानव। वैदिक सूर्य विभा चमकाकर…

ओ3म् नारायणः

“आत्म ब्रह्म में” ओ3म् नारायणः, ओ3म् खं ब्रह्म। ईशावास्यमिदं सर्वम्… (2)।। टेक।। सृष्टि यज्ञ सुरचना, संधि संधि अर्चना। समीपतम है हितकर, ब्रह्म ज्योतित है घर।। अग्निम् ईळे पुरोहितम्, यज्ञस्य देव…

Page 1 of 6
1 2 3 6