Loading...

Articles Tag: Saral Sanskrit Abhyas

००२१ सरल संस्कृत अनुवाद अभ्यास पाठ ३२१ से ३५०

ओ३म्३२१. संस्कृत वाक्याभ्यासः अद्य नूतनं स्यूतम् आनीतवान्।= आज नया थैला लाया।आपणात् किमपि क्रेष्यामि तस्मिन् स्यूते एव आनेष्यामि।= बाजार से कुछ भी खरीदूँगा उस थैले में ही लाऊँगा।सः स्यूतः वस्त्रेण निर्मितम् [ … ]

००२० सरल संस्कृत अनुवाद अभ्यास पाठ २९१ से ३२०

ओ३म् २९१ संस्कृत वाक्याभ्यासः सः संकल्पं करोति। अद्य आरभ्य अहं संस्कृत-भाषायां वदिष्यामि। त्रुटि: भवति चेत् चिन्तां न करिष्यामि। अहं सरलं वदिष्यामि। गृहे वदिष्यामि आपणे वदिष्यामि । मन्दिरे वदिष्यामि। उद्याने वदिष्यामि। [ … ]

००१९ सरल संस्कृत अनुवाद अभ्यास पाठ २६१ से २९०

ओ३म् २६१ संस्कृत वाक्याभ्यासः सः बहु चिन्तामग्नः अस्ति।= वह बहुत चिन्ता में है। सः बहु स्थानतः ऋणं स्वीकृतवान्।= उसने बहुत जगहों से ऋण लिया है। सः चिन्तयति।= वह विचारता है। [ … ]

००१८ सरल संस्कृत अनुवाद अभ्यास पाठ २३१ से २६०

ओ३म् २३१ संस्कृत वाक्याभ्यासः अद्य रविवासरः अस्ति खलु ! = आज रविवार है न ! तर्हि भोजन समये संस्कृते एव वदामः = तो भोजन के समय संस्कृत में ही बोलें [ … ]

००१७ सरल संस्कृत अनुवाद अभ्यास पाठ २०१ से २३०

ओ३म् २०१ संस्कृत वाक्याभ्यासः शिक्षा , कल्प , निरुक्त , व्याकरण , छन्द और ज्योतिष ये छः वेदाङ्ग हैं । प्राचीन समय में इनकी विद्या को प्राप्त करना अनिवार्य था। आज [ … ]

००१६ सरल संस्कृत अनुवाद अभ्यास पाठ १६१ से २००

ओ३म् 161. संस्कृत वाक्याभ्यासः सज्जता अभवत् ।= तैयारी हो गई । मन्दिरस्य प्राङ्गणे स्वच्छता अभवत्।= मन्दिर के मैदान में स्वच्छता हो गई । गोमयस्य अपूपानि आनीतानि।= गोबर के उपले ले आए [ … ]

००१५ सरल संस्कृत अनुवाद अभ्यास पाठ १५१ से १६०

ओ3म् 151. संस्कृत वाक्याभ्यासः मम भार्या मह्यम् एकं कार्यम् अददात्= मेरी पत्नी ने मुझे एक काम दिया था। अहं तस्याः कार्यं विस्मृतवान्।= मैं उसका कार्य भूल गया। यदा अहं मार्गे [ … ]

००१४ सरल संस्कृत अनुवाद अभ्यास पाठ १४१ से १५०

ओ3म् 141. संस्कृत वाक्याभ्यासः लाली – तव पुत्रः कस्यां कक्षायां पठति ?= तुम्हारा बेटा कौनसी कक्षा में पढ़ता है ? ऋचा – मम पुत्रः सप्तम्यां कक्षायां पठति।= मेरा बेटा सातवीं [ … ]

००१३ सरल संस्कृत अनुवाद अभ्यास पाठ १३१ से १४०

ओ३म् १३१. संस्कृत वाक्याभ्यासः पिता – हे पुत्र ! वद ‘‘अहं बालः’’। पुत्रः – अहं बालः। पिता – वद ‘‘त्वं बाला’’। पुत्रः – त्वं बाला। पिता – हे पुत्री ! [ … ]

००१२ सरल संस्कृत अनुवाद अभ्यास पाठ १११ से १२०

ओ३म् १११. संस्कृत वाक्याभ्यासः आह्वयति = बुलाता है / बुलाती है। सः आह्वयति = वह बुलाता है। सा आह्वयति = वह बुलाती है। एषः आह्वयति = यह बुलाता है। एषा [ … ]

Page 1 of 3
1 2 3