Loading...
Today's Words

Audio Tag: Ved Mantra Gaan

संगच्छध्वं संवदध्वम्

संगठन सूक्तम् संगच्छध्वं संवदध्वं सं वो मनांसि जानताम्। देवा भागां यथा पूर्वे संजानाना उपासते।। समानी व आकूतिः समाना हृदयानि वः। समानमस्तु वो मनो यथा वः सुसहासति।। समानो मन्त्रः समितिः समानी [ … ]

मिले शान्ति वह प्रभुवर हमको

मिले शान्ति वह प्रभुवर हमको।। टेक।। जो रवि किरणों में मुस्काए। अन्तरिक्ष को जो महकाए। वसुधा पर सौरभ बन छाए। व्यापक रह जल के स्रोतों में। करें सुखी जीवन भर [ … ]

तन्मे मनः शिवसंकल्पमस्तु

तन्मे मनः शिवसंकल्पमस्तु हों विमल संकल्प मेरे उस सतत गतिशील मन के। हा शिवम् संकल्प मेरे उस सतत गतिशील मन के।। टेक।। ओ3म् यज्जाग्रतो दूरमुदैति दैवं तदु सुप्तस्य तथैवैति। दूरङ्गमं [ … ]

कृण्वन्तो विश्वमार्यम्

ध्येय गीत (प्रातःयज्ञ के समय) ओ३म् इन्द्रं वर्धन्तो अप्तुरः कृण्वन्तो विश्वमार्यम्। अपघ्नन्तो अराव्णः।। (ऋग्वेद ९/६३/५) हे प्रभो! हम तुम से वर पाएँ। सकल विश्व को आर्य बनाएँ।। फैलें सुख सम्पत्ति [ … ]

यज्ञ प्रार्थना

यज्ञ प्रार्थना पूजनीय प्रभो हमारे, भाव उज्वल कीजिए। छोड़ देवें छल-कपट को, मानसिक बल दीजिए।। 1।। वेद की बोलें ऋचाएं, सत्य को धारण करें। हर्ष में हों मग्न सारे, शोक [ … ]

ईश्वर स्तुति प्रार्थना उपासना गान

ईश्वर स्तुति प्रार्थना उपासना गान ओ३म् विश्वानि देव सवितर्दुरितानि परा सुव। यद् भद्रन्तन्न ऽ आसुव।। 1।। (यजु अ.30/मं.3) हे सकल जगत् के उत्पत्तिकर्ता, समग्र ऐश्वर्ययुक्त, शुद्धस्वरूप, सब सुखों के दाता [ … ]