Loading...
Today's Words

Audio Tag: Bharat Gaurav Gaan

भारत गौरव गान / भारत चालीसा

भारत चालीसा या ।। गौरव-गान।। आर्य कवि पंडित जगदीशचन्द्र ”प्रवासी“ 1- हिमालय है भू-मण्डल में भारत देश महान। जहां खड़ा गिरिराज हिमालय मही मुकुट उत्तुंग उतान। अपने उज्जवल मुख-मण्डल से [ … ]

1- हिमालय (~ भारत चालीसा)

भारत गौरव गान या भारत चालीसा स्वर : ब्र. अरुणकुमार “आर्यवीर” 1- हिमालय है भू-मण्डल में भारत देश महान। जहां खड़ा गिरिराज हिमालय मही मुकुट उत्तुंग उतान। अपने उज्जवल मुख-मण्डल [ … ]

2 – नदियाँ (~ भारत चालीसा)

भारत गौरव गान या भारत चालीसा स्वर : ब्र. अरुणकुमार “आर्यवीर” 2 – नदियाँ जहां त्रिवेणी, गंगा, यमुना, सरस्वती शुचि नदी विशाल। ब्रह्मपुत्र, सरयू, रावी नद् व्यास, सिन्धु बहतीं सब [ … ]

3 – भूमि (~ भारत चालीसा)

भारत गौरव गान या भारत चालीसा स्वर : ब्र. अरुणकुमार “आर्यवीर” 3 – भूमि महा क्षेत्रफल विस्तृत धरणी पाया पद कृषि-प्रधान आन। सभी भांति के अन्न, फूल, फल करती कोटि-कोटि [ … ]

4 – प्रकृति (~ भारत चालीसा)

भारत गौरव गान या भारत चालीसा स्वर : ब्र. अरुणकुमार “आर्यवीर” 4 – प्रकृति प्रथम जहां पर प्रकृति-नटी की रूप-छाटाप्रिय गई छलक। प्रथम जहां रवि उदित हुआ ले कीर्ण, रेशमी [ … ]

5 – आर्यत्व (~ भारत चालीसा)

भारत गौरव गान या भारत चालीसा स्वर : ब्र. अरुणकुमार “आर्यवीर” 5 – आर्यत्व आर्यावर्त व भारतवर्ष सुनाम पुरातन गौरववान। यवनों द्वारा पाया था उपनाम हिन्द औ हिन्दोस्तान।। प्रभु से [ … ]

6-साहित्य (~ भारत चालीसा)

भारत गौरव गान या भारत चालीसा स्वर : ब्र. अरुणकुमार “आर्यवीर” 6-साहित्य जहां ईश्वरी-ज्ञान वेद हैं ऋग, यजु, साम, अथर्व महान। छै दर्शन छै शास्त्र सुब्राह्मण, आरण्य गृह सूत्रादि बखान।। [ … ]

7 – जगतगुरु (~ भारत चालीसा)

भारत गौरव गान या भारत चालीसा स्वर : ब्र. अरुणकुमार “आर्यवीर” 7 – जगतगुरु प्रथम भारती ने ही जग को बतलाया शुभ चाल चलन। जगत दिगम्बर को सिखलाया करना पट-परिधान [ … ]

8 – ऋषि-मुनि (~ भारत चालीसा)

भारत गौरव गान या भारत चालीसा स्वर : ब्र. अरुणकुमार “आर्यवीर” 8 – ऋषि-मुनि जहां हुए ऋषि अग्रि, वायु, आदित्य, अंगिरा श्रुति ज्ञानी। जहां हुए ऋषि व्यास, वाल्मिक जिनकी कृति [ … ]

9 – देवगण (~ भारत चालीसा)

भारत गौरव गान या भारत चालीसा स्वर : ब्र. अरुणकुमार “आर्यवीर” 9 – देवगण जहां हुए हैं ब्रह्मा, विष्णु महादेव प्रिय शिवशङ्कर। जहां हुए हैं राम, कृष्ण, औ परशुराम से [ … ]

Page 1 of 5
1 2 3 5